स्थान ट्रैकिंग को नियंत्रित करने के लिए Apple और Google ने कड़े कदम उठाए हैं

स्थान ट्रैकिंग को नियंत्रित करने के लिए Apple और Google ने कड़े कदम उठाए हैं

हाल ही में, Google और Apple ने कहा है कि वे आईटी कंपनियों को “स्थान ट्रैकिंग सेवाओं” के बारे में डेटा जारी नहीं करेंगे। इस कदम का उद्देश्य प्रत्येक व्यक्ति की निजता के अधिकार की रक्षा करना है।

साथ ही, Apple ने नए फैसले को अमल में लाने के लिए IT कंपनियों को दो महीने का समय दिया है। गूगल के मुताबिक संबंधित कंपनियों के पास आवेदन करने के लिए एक महीने का समय होगा। यदि महत्वपूर्ण है, तो समय सीमा एक और महीने के लिए बढ़ा दी जाएगी।

कई आईटी कंपनियां पहले से ही कोरोना संक्रमण से बचने के लिए ‘कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग ऐप्स’ का विस्तार करने में सक्रिय हैं। उनका आरोप है कि अगर पास में कोई संक्रमित व्यक्ति है तो क्लाइंट को वह डेटा और चेतावनी फोन पर मिल जाएगी।

ऐसे रिकॉर्ड भी थे कि स्मार्टफोन उपयोगकर्ताओं के स्थान की जानकारी के लिए Google और Apple का उपयोग किया जा रहा था। लेकिन कुछ महीने पहले, Google और Apple ने पर्यवेक्षण को कम करने के लिए प्रत्येक देश में एकमात्र स्वास्थ्य सेवा ऐप निर्माता के लिए खुले तौर पर “स्थान ट्रैकिंग” सेवा की घोषणा की।

खबरों के मुताबिक, फिलहाल, दुनिया भर के 400 से अधिक ऐप निर्माता 60 मिलियन से अधिक ग्राहकों से डेटा एकत्र करते हैं। यदि वे एक महीने के भीतर नई सेवा के लिए आवेदन नहीं करते हैं, तो उनके ऐप्स को ऐप्पल ऐप स्टोर और Google Play Store से हटाया जा सकता है।

About the Author: TEAM BEPINKU.COM

We share trending news and latest information on Business, Technology, Entertainment, Politics, Sports, Automobiles, Education, Jobs, Health, Lifestyle, Travel and more. That's our work. We are a team led by Mahammad Sakil Ansari.